मूवी रिव्यू – लवयात्री मे लव और डांडिया रास गरबे के सिवा कुछ नही

LoveYatri

मूवी रिव्यू :            लवयात्री 

निर्देशक :             अभिराज मीनावाला

संगीत :                 तनीश्क बधाची 

कलाकार:            आयुष शर्मा,वरीना हुसैन, रौनित राय

जाॅनर :                 रोमांटिक लव स्टोरी

रेटिंग :                 स्टार (3.5/5)

फिल्म समीक्षा  :     आरती सक्सेना , एडिटर अमित बच्चन

जब कोई सुपर स्टार अपने किसी खास रिश्तेदार को फिल्मों मे प्रस्तुत करता है तो सबसे पहले उसको इस बात का ध्यान रखना चाहिये कि उनका खासमखास जिस फिल्म मे काम करने जा रहा है उसकी कहानी कितनी दमदार है स्क्रिन प्ले और डायरैक्शन कितना पावरफुल है और अगर फिल्म संगीत पर आधारित है तो फिल्म का संगीत कितना दमदार है। क्योंकि यही सब खास चीजे एक नये कलाकार को अपने सही मुकाम तक पहुचाने मे कारागार सिंध्द होती हैं लेकिन ऐसा कुछ भी लवयात्री मे नजर नही आया । बालीवुड के सुपर स्टार सलमान खान ने काफी अरसे बाद अपने जीजा आयूष शर्मा को लवयात्री के जरिये इंट्रोडयूस किया । लेकिन फिल्म मे कोई दम ना होने की वजह से फिल्म अपना प्रभाव नही छोड पाई है। और ठंडी नजर आती है। 

कहानी …  फिल्म की कहानी नवरात्री के नोै दिन के गरबे को केद्रित करके बनाई गई है इससे पहले भी हत्विक रोशन और अमिषा पटेल अभिनीत फिल्म आप मुझे अच्छे लगने लगे नवरात्री पर आधारित फिल्म आइ्र थी जो चारो खाने चित हो गई थी। एक बार फिर सलमान खान अपने जीजा आयुष शर्मा और नवोदित हीरेाइन वरीना हुसैन के साथ नवरात्री पर कहानी लेकर प्रस्तुत किये । जिसमे आयूष याानि की सूसू को गरबा खेलने के अलावा कुछ नहीआता और वह एन आर आई लड़की मिशेल अर्थात से प्यार कर बैठते हैं और अपना प्यार पाने के लिये लंदन तक चले जाते हैं और इसी धिसी पिटी लव स्टोरी के साथ खुशी खुशी दी एंड करके अपने धर लौट जाते हैं अपनी पे्रेमिका मिशल को लेकर ।

अभिनय सलमान खान के जीजा आयुष शर्मा अभिनय के दौरान काफी दबे दबे नजर आते हैं बिल्कुल वैसे जैसे किसी ने उनके सिर पर तलवार रखकर एक्टिग करवाई हो ।अलबत्ता उनकी मासूम मुस्कान जरूर 100 वाल्ट है लगता है इसी मुस्कान के साथ आयूष ने सलमान और अर्पिता का भी दिल जीत लिया है। आयूष चेहरे से काफी शरीफ और मासूम नजर आते हैं । लेकिन अभिनय के मामले मे अभी उनकेा काफी कुछ सीखने की जरूरत है।अभिनेत्री वरीना हुसैन ने पहली फिल्म के हिसाब से अच्छा परफोरमेस दिया है।इसके अलावा बाकी कलाकार जैसे रामकपूर और बाकी कलाकार ने अपना अभिनय ठीक ठाक किया है।

डायरेक्शन …. फिल्म का डायरेक्शन एवरेज है क्योंकि डायरेक्टर को सिर्फ गरबा ही खिलाना था कहानी तो कुछ थी ही नही  इस लिये उनकेा अपना डायरेक्शन का जौहर दिखाने का मौका भी नही मिला । लेकिन जितना भी डायरेक्शन उनहोने दिया है वो बुरा भी नही है।

फिल्म देखे कि ना देखे …. गरबा और रोमांस से प्रभावित लोगो के लिये लवयात्री फिल्म एक बार जरूर देखने लायक है।




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *