मूवी रिव्यू साहो : बिग बजट हालीवुड स्टाइल मे टॉलीवूड का तड़का

saaho

मूवी रिव्यू  साहो : बिग बजट हालीवुड स्टाइल मे टेलीवुड का तड़का 

डायरेक्टर :         सुजीत

कलाकार :         प्रभास, श्रध्दा कपूर , जैकी श्राफ, महेश मांजरेकर , नील नितिन मुकेश , चंकी पांडे , टीनू आनंद , मुरली शर्मा, अरूण विजय

जौनर :              एक्शन ड्रामा

अवधि :              2 धंटा 51 मिनट

रेटिंग :                स्टार (3.5/5)

फिल्म समीक्षा : आरती सक्सेना , एडिटर अमित बच्चन

जब किसी फिल्म की बहुत ज्यादा चर्चा होती है उसको बनाने मे काफी वक्त लगता है । जिसका हीरो पहले से ही काफी प्रसिध्द होता है तो उस फिल्म से उम्मीदे भी कुछ ज्यादा ही बढ जाती है। ऐसा ही कुछ फिल्म साहो के साथ भी हुआ। बाहुबली फेम प्रभास और श्रध्दा कपूर अभिनीत ओेर सुजीत द्वारा निर्देशित साढे तीन सोै करोड बजट की फिल्म साहो का दर्शको को बेसब्री से इतंजार था । साथ ही उम्मीदे भी बहुत सी थी कि इतनी बड़ी फिल्म जरूर कुछ कमाल की हेागी । लिहाजा प्रभास के बडे पैमाने मे फैन्स और साहो का इंतजार कर रहे दर्शको के लिये साहो एक बड़ा तोहफा तो लेकर आई जंहा प्रभास की परफैक्ट एक्टिंग अच्छी खुबसूरत लोकेशन कर्ण प्रिय संगीत जरूर दर्शको को खुश कर देगी । लेकिन फिल्म दर्शको की नजर मे खरी नही उतर पायेगी क्युकी फिल्म की कहानी बहुत ज्यादा उलझी हूई है फिल्म की कहानी इतनी ज्यादा उलझी है कि दर्शको का दिमाग कहानी समझने मे ही खराब हो जाता है जिसके चलते वो बाकी चीजो का मजा लेना ही भूल जाते हैं ।

फिल्म की कहानी …. साहो की कहानी दुनिया के सबसे शक्तिशाली सिंडीकेट माफिया की आपसी दुश्मनी पर आधारित फिल्म है जिसकी शुरूवात और एंड चोरी को लेकर होती है । लेकिन बाद मे कहानी आपसी दुश्मनी और मारधाड़ के साथ खत्म होती है । विदेश मे स्थापित राॅयल ग्रुप के राॅय एक साजिश के तहत मारे जाते हैं ।और उनकी गद्दी के लिये हर कोई दावेदार बनना चाहता है जिसके तहत चंकी पांडे, महेश मांजरेकर, अरूण विजय और मंदिरा बेदी उस सीट का हकदार बनने के लिये अपनी अपनी साजिश रचते हैं लेकिन राॅय के इस कुर्सी के हकदार को साहो के जरिये वहा तक पहुचा दिया जाता है । कहने का तात्पर्य ये है कि फिल्म की कहानी चोरी से शुरू होती है लेकिन आखिर मे श्रध्दा कपूर के प्यार के साथ खत्म हेाती है ।

अभिनय .. अगर अभिनय की बात करे तो । फिल्म के मुख्य हीरो प्रभास ने काफी अच्छा और सटीक अभिनय किया है । श्रध्दा कपूर भी अपने किरदार मे काफी खुबसूरत लगी हे । बाकी टीनू आंनंद, चंकी पांडे , नील नीतिन मुुकेश ने अपने अपने किरदार के साथ न्याय किया है । लेकिन फिल्म मे कहानी के अभाव के चलते दर्शक बाकी चीजो केा एन्जाॅय नही कर पा रहे थे ।

डायरेक्शन …. फिल्म के डायरेक्शन सुजीत ने किया है कहानी के अभाव के चलते फिल्म का डायरेक्शन फिका नजर आता है।

फिल्म के प्लस प्वांट …. साहो फिल्म के प्लस प्वांइट ये है कि फिल्म की लोकेशन बहुत खुबसूरत हैं दुसरा फिल्म मे गाने और डांस अच्छा है । बाहुबली फेम प्रभास ने बहुत ही खूबसूरती से अभिनय किया है । इस फिल्म मे प्रभास ने पहली बार हिन्दी बोली है जो उनहोने काफी क्यूट तरीके से बोली है । श्रध्दा कपूर ने भी अपना किरदार बखुबी निभाया है ।

माइनस प्वाइंट … फिल्म के माइनस प्वाइंट फिल्म जरूरत से ज्यादा लंबी है । फिल्म की कहानी नदारद है । सिर्फ एक्शन और डांस के जरिये लोगो को केा आकर्शित किया है फिल्म मे कलाकारो का चलन भी सही नही है ।

साहो देखे या ना देखे…. प्रभास के फैन और देश विदेश की सैर करने वालो के लिये ये फिल्म एक खुबसूरत तोहफा है । बाकी जो धर मे ही रहने वाले हें उनको फिल्म देखने के बजाय आराम करना चहिये।

Shraddha poster

 




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *